TATAPANI MAHOTSAVA 2022: प्रसिद्ध तातापानी महोत्सव की तैयारी हुई शुरू…………..इस बार सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजनों में स्थानीय व छत्तीसगढ़ी कलाकारों को दी जाएगी प्राथमिकता

दोस्तों के साथ इस समाचार को शेयर करें:

कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार व पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने जिले के प्रसिद्ध तातापानी महोत्सव के तैयारी हेतु सभी विभाग प्रमुखों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। ज्ञात है प्रत्येक वर्ष जिले के प्रमुख धार्मिक एवं पर्यटन स्थल तातापानी में मकर संक्रांति के अवसर पर विशाल मेले का आयोजन किया जाता है। मकर संक्रांति के विशेष पर्व को तातापानी में बड़े उल्लास के साथ के मनाया जाता है। क्षेत्रवासियों के लिए तातापानी एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है एवं वर्षों से यहां महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। कलेक्टर ने इसके धार्मिक एवं सांस्कृतिक महत्व को रेखांकित करते हुए तातापानी महोत्सव के आयोजन की कार्ययोजना अधिकारियों के साथ साझा की और बताया कि कार्यक्रम की पूरी थीम स्थानीय संस्कृति और लोक पर केंद्रित होगी। इस दौरान कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक तथा जिला पंचायत सीईओ ने परिसर में स्थित मंदिर में पूजा-अर्जना कर जिलेवासियों के लिए मंगलकामना की।

कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार ने सर्वप्रथम अधिकारियों के साथ पूरे परिसर का भ्रमण किया और साफ-सफाई, पानी की व्यवस्था, मूर्ति का रंग-रोगन, विद्युत, गर्म पानी के कुंडों को सुरक्षित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि तातापानी मंदिर परिसर तक आने वाली सड़क के दोनों तरफ पूर्व की भांति दुकानें नहीं लगेगी तथा दुकानों के लिए पृथक व्यवस्था की जाएगी। सड़क में अनावश्यक भीड़ तथा अव्यवस्था नहीं होनी चाहिए तथा इस वर्ष महोत्सव में परिसर सुव्यवस्थित हो। क्लेक्टर श्री कुमार ने महिला बाल विकास अधिकारी को किड्स जोन, गुमशुदा सेल तथा ब्रेस्ट फीडिंग जोन बनाने के निर्देश दिए। साथ ही सुरक्षा के दृष्टिकोण से परिसर में सीसीटीवी कैमरा लगवाने को कहा तथा विश्राम गृह को महोत्सव की अपेक्षा के अनुरूप व्यवस्थित करने के निर्देश दिए। साथ ही विभिन्न विभागों के अधिकारियों को कार्य क्षेत्रों के अनुरूप दायित्वों का निर्वहन करने हेतु निर्देशित किया है। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को मंदिर एवं कार्यक्रम स्थल पर पण्डाल, मंदिर एवं मंच सज्जा एवं शिक्षा तथा आदिवासी विकास विभाग को स्थानीय कलाकारों के लिए सम्पूर्ण व्यवस्था की जिम्मेदारी एवं पानी व्यवस्था के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को जिम्मेदारी सौंपी है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती रीता यादव ने सभी अधिकारियों को उन्हें दिए गए दायित्वों से अवगत कराते हुए समय-समय पर वांछित सहयोग करने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर ने बताया कि महोत्सव के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा, जिसमें स्थानीय व छत्तीसगढ़ी कलाकारों को प्राथमिकता दी जाएगी। छत्तीसगढ़ी लोक गायन एवं नृत्य से संबंद्ध कलाकार दलों को आमंत्रित किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें:  AMBIKAPUR: एमएमयू से 1 लाख 31 हजार से अधिक लोगों को अपने मोहल्ले में मिला निःशुल्क ईलाज

बैठक में वनमंडलाधिकारी श्री लक्ष्मण सिंह, अपर कलेक्टर श्री एस.एस. पैंकरा, सयुंक्त क्लेक्टर श्री एच. एल.गायकवाड़, आर.एन पांडे, डिप्टी कलेक्टर श्री दीपक निकुंज, एसडीएम श्री भारत कौशिक, श्री अजय किशोर लकड़ा, श्री गौतम सिंह, सर्व कार्यालय प्रमुख सहित विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

इसे भी पढ़ें