AFGHAN CRICKET: विश्व कप 2023 में अमर रहेगा अफगानिस्तान का प्रदर्शन………….जीते 4 मुकाबले, 3 विश्व विजेताओं को हराया

वनडे विश्व कप 2023 में अफगानिस्तान क्रिकेट टीम उन पक्षों में से एक रही जिसने अपने खेल से काफी प्रभावित किया।अफगानिस्तान ने शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम के खिलाफ टूर्नामेंट में अपना अंतिम मुकाबला खेला।इस मुकाबले में उसे 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। 245 रन के लक्ष्य को प्रोटियाज टीम ने 47वें ओवर में हासिल कर लिया।आइए टूर्नामेंट में अफगान टीम के सफर पर नजर डालते हैं।

अफगानिस्तान ने जीते 4 मुकाबले, 3 विश्व विजेताओं को हराया 

अफगानिस्तान इस टूर्नामेंट में कुल 9 मैच खेले। जिनमें से उसने 4 जीते और 5 में हार का सामना करना पड़ा।10 टीमों की अंक तालिका में अफगानिस्तान 8 अंक और -0.336 की नेट रन रेट के साथ छठे नंबर पर रही।इस टूर्नामेंट में अफगानिस्तान के लिए बड़ी उपलब्धि यही रही कि उसने 3 विश्व कप विजेता टीमों को हराया।अफगानिस्तान ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम (69 रन), पाकिस्तान (8 विकेट) और श्रीलंका (7 विकेट) को हराकर वाहवाही लूटी।

न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली सबसे बड़ी हार 

अफगानिस्तान को टूर्नामेंट में रनों के लिहाज से सबसे बड़ी हार न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के खिलाफ मिली।टूर्नामेंट के 16वें और टीम के चौथे मुकाबले में कीवियों ने अफगानिस्तान को 149 रन के विशाल अंतर से हराया था।न्यूजीलैंड ने पहले खेलते हुए 288/6 रन बनाए थे। इसके जवाब में अफगान टीम 34.4 ओवर में केवल 139 रन ही बना पाई।अफगानिस्तान को विकेटों के लिहाज से सबसे बड़ी हार भारतीय क्रिकेट टीम (8 विकेट) के खिलाफ मिली थी।

अफगानिस्तान ने ऑस्ट्रेलिया को घुटने टेकने पर किया मजबूर 

टूर्नामेंट में एक मोड़ ऐसा भी आया जब अफगानिस्तान ने 5 बार की वनडे विश्व कप विजेता ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम को भी घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था।टूर्नामेंट के 39वें मुकाबले में अफगानिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 291/5 का स्कोर बनाया था।अफगानिस्तान ने एक समय ऑस्ट्रेलिया के 7 विकेट 91 रन पर ही गिरा दिए थे।हालांकि, ग्लेन मैक्सवेल (201*) की तूफानी पारी ने मैच का पासा पलट दिया और ऑस्ट्रेलिया 3 विकेट से जीत गया।

इसे भी पढ़ें:  GOOGLE: गूगल अब AI की दुनिया में पैर जमाने की तैयारी में......... ऐसा बनाया निवेश का प्लान

विश्व कप 2023 में अमर रहेगा अफगानिस्तान का प्रदर्शन 

अफगानिस्तान ने इस विश्व कप में ऐसा यादगार प्रदर्शन किया जिसके चलते उसे हमेशा याद रखा जाएगा।इस विश्व कप से पूर्व अफगानिस्तान ने विश्व कप में 15 मैचों में से सिर्फ 1 मैच जीता था।इस बार उसने 9 में से 4 मैच जीतकर अपनी क्षमता का लोहा मनवाया।इसके अलावा कुछ मैचों में टीम ने हारते हुए भी विपक्षी टीमों को कड़ी चुनौती देते हुए अपनी काबिलियत का परिचय दिया था।

गेंदबाजी से पहचान रखने वाली अफगानिस्तान ने बल्ले से किया कमाल 

अफगानिस्तान की पहचान अब तक मजबूत गेंदबाजी पक्ष के रूप में होती थी, लेकिन इस बार टीम ने इस मिथक को तोड़ा।टूर्नामेंट शुरू होने से पहले लगा था कि टीम का प्रदर्शन राशिद खान, मोहम्मद नबी और मुजीब उर रहमान के इर्द-गिर्द ही घूमता दिखाई देगा।हालांकि, इस बार टीम ने बल्लेबाजी ताकत के चलते अभूतपूर्व सफलता हासिल की।इब्राहिम जादरान, अजमतुल्लाह उमरजई, रहमत शाह और हशमतुल्लाह शाहीदी ने 300 से अधिक रन बनाए।

टूर्नामेंट में अफगानिस्तान के शीर्ष प्रदर्शनकर्ता 

टूर्नामेंट में अफगानिस्तान टीम की ओर से सबसे अधिक रन जादरान ने बनाए।उन्होंने 9 मैचों में 47.00 की औसत और 76.26 की स्ट्राइक रेट से 376 रन बनाए। उन्होंने टूर्नामेंट में 129* के उच्चतम स्कोर के साथ 1 शतक और 1 अर्धशतक भी जमाया।गेंदबाजी में राशिद टूर्नामेंट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे।राशिद ने 9 मैचों में 4.48 की इकॉनमी रेट से 11 विकेट लिए। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 3/37 विकेट का रहा।

error: Content is protected !!