Lok Sabha Elections 2024: पिछले चुनाव में ‘मैं भी चौकीदार’ के बाद अब ‘मोदी का परिवार’…….. विपक्ष की गलती से क्या लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी का का होगा बेड़ा पार?

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत बीजेपी के कई नेताओं ने सोमवार (4 मार्च, 2024) को अचानक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर प्रोफाइल के बायो में दी गई जानकारी को अपडेट कर लिया. इन नेताओं के एक्स हैंडल्स पर नाम के आगे ‘मोदी का परिवार’ शब्द जोड़ लिया गया. दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेलंगाना के आदिलाबाद में जनसभा को संबोधित करते हुए RJD चीफ लालू प्रसाद यादव पर पलटवार किया. पीएम मोदी ने कहा कि मेरे परिवार को लेकर मुझ पर निशाना साधा गया. लेकिन, अब पूरा देश बोल रहा है कि मैं हू मोदी का परिवार.”

इसके बाद एक के बाद कर बीजेपी के तमाम नेता अपने एक्स के बायो में ‘मोदी का परिवार’ लिख रहे हैं. ऐसे में समझा जा सकता है कि पीएम के बयान को अब बीजेपी के नेता अपने कैंपेन की तरह इस्तेमाल करेंगे. सबसे पहले बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने अपने प्रोफाइल में यह बदलाव किया और उसके बाद गृह मंत्री शाह ने. कुछ देर बाद केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, अश्विनी वैष्णव और अनुराग ठाकुर ने भी अपने ‘एक्स’ प्रोफाइल पर अपने नाम के आगे ‘मोदी का परिवार’ जोड़ दिया.

चौकीदार वाला पैटर्न दोहराना चाह रही BJP

बीजेपी नेताओं ने जिस तरह चुनाव से ठीक पहले ‘मोदी का परिवार’ स्लोगन अपना लिया है उससे तो यही लग रहा है कि बीजेपी इस मुद्दे को पूरे चुनावी सीजन में इस्तेमाल करने वाली है. ठीक उसी तरह जैसे 2019 के चुनाव में चौकीदार ने जादू चलाया था. साल 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के ‘चौकीदार चोर है’ के नारे के जवाब में बीजेपी ने ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान चलाया था. वही पैटर्न इस चुनाव में भी कैंपेन की तरह काम करने वाला है.

इसे भी पढ़ें:  CHHATTISGARH: मृत भालू के पंजे, नाखून एवं गुप्तांग काट कर ले जाने वाले आरोपियो के विरूद्ध की जा रही है कानूनी कार्रवाई

मोदी का परिवार कैसे बन गया बड़ा मुद्दा

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने रविवार को पटना में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर कटाक्ष किया था. उन्होंने कहा था, ‘‘अगर नरेंद्र मोदी के पास अपना परिवार नहीं है तो हम क्या कर सकते हैं. वह राम मंदिर के बारे में डींगें मारते रहते हैं. वह सच्चे हिंदू भी नहीं हैं. हिंदू परंपरा में बेटे को अपने माता-पिता के निधन पर अपना सिर और दाढ़ी मुंडवानी चाहिए. जब मोदी की मां की मृत्यु हुई तो उन्होंने ऐसा नहीं किया.”

प्रधानमंत्री मोदी ने भी लालू के इस आरोप पर सोमवार को पलटवार किया और कहा कि भ्रष्टाचार, परिवारवाद और तुष्टीकरण में आकंठ डूबे ‘इंडी गठबंधन’ के नेता बौखलाते जा रहे हैं. उन्होंने तेलंगाना में एक रैली को संबोधित करते हुए, ‘‘मैं इनके परिवारवाद पर सवाल उठाता हूं तो इन लोगों ने अब बोलना शुरू कर दिया है कि मोदी का कोई परिवार नहीं है. मैं इनसे कहना चाहता हूं कि 140 करोड़ देशवासी ही मेरा परिवार हैं, जिसका कोई नहीं है वो भी मोदी के हैं और मोदी उनका है. मेरा भारत-मेरा परिवार है.’’

इसके बाद कई केंद्रीय मंत्रियों और बीजेपी नेताओं ने अपने ‘एक्स’ प्रोफाइल पर अपने नाम के आगे ‘मोदी का परिवार’ जोड़ दिया.

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!