HOLI 2024: इस शहर में होली के दिन रेन डांस-पूल पार्टी पर प्रतिबंध, जानें सरकार क्यों लिया ये फैसला

बेंगलुरु में पानी की कमी को देखते हुए बेंगलुरु वाटर सप्लाई एंड सीवरेज बोर्ड (BWSSB) ने होली (25 मार्च) के जश्न के लिए कुछ नियम लागू किए हैं. बोर्ड ने कमर्शियल और मनोरंजन केंद्रों से अनुरोध किया है कि वे होली पर पूल पार्टी और रेन डांस के लिए कावेरी या बोरवेल के पानी का इस्तेमाल न करें.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, BWSSB द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि इस समय व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए रेन डांस और पूल पार्टी जैसे मनोरंजन का आयोजन करना उचित नहीं है. जनहित में कावेरी जल और बोरवेल के पानी के इस्तेमाल पर रोक लगाई गई है. इन नियमों के साथ, बोर्ड ने इस बात पर जोर दिया कि होली एक खुशी का त्योहार है और इसे घर पर मनाने पर कोई रोक नहीं लगाई गई है.

होटलों में होली पार्टी की तैयारी शुरू

दूसरी तरफ, इस आदेश के अलावा, बेंगलुरु के कई होटलों ने होली के जश्न पर आयोजित होने वाली पूल पार्टी के लिए टिकट बेचना शुरू कर दिया है. जेके ग्रैंड एरिना में रंग दे बेंगलुरु 2024 के लिए ऑनलाइन टिकटों की बिक्री शुरू हो चुकी है. एक टिकट की कीमत 199 रुपये है. लागो पाम्स रिज़ॉर्ट भी “ओपन एयर-पूल होली फेस्टिवल” की मेजबानी करने के लिए तैयार है. जयमहल पैलेस होटल में भी “रेन डांस, पंजाबी ढोल” जैसे कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे. हालांकि, लुलु मॉल होली 2024 सूखा होली फेस्टिवल का आयोजन कर रहा है. इसकी टिकट की कीमत 299 रुपये से शुरू होती है.

कर्नाटक के सीएम ने अधिकारियों को दिए निर्देश

इसे भी पढ़ें:  Google Alert: गूगल ने अपने यूजर्स को जारी किया अलर्ट.......... करोड़ों यूजर्स पर हैकिंग का खतरा! भूलकर भी ना करें ये गलती

इससे पहले सोमवार को, कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा था कि शहर को हर रोज लगभग 2,600 मिलियन लीटर पानी (MLD) की जरूरत होती है, जबकि मांग के मुकाबले 500 MLD की कमी का सामना करना पड़ रहा है. पानी की कमी से निपटने के लिए उन्होंने अधिकारियों को हर रोज मीटिंग करने और कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं. सीएम के अनुसार, 1,470 MLD पानी कावेरी नदी से आता है, जबकि 650 MLD पानी बोरवेल से आता है.

पानी की समस्या

सीएम ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बेंगलुरु में 14,000 बोरवेल हैं, जिनमें से 6,900 सूख चुके हैं. कई जल स्रोतों को अतिक्रमित कर लिया गया है या उन्हें नष्ट कर दिया गया है. बेंगलुरु को 2,600 MLD पानी की जरूरत है. इसमें से 1,470 MLD कावेरी नदी से आता है.

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!