फ्लाइट में लेना चाहते हैं अपने मन पसंद की सीट ……. ये तरीके दिलाएंगे आपको बेस्ट बैठने की जगह

फ्लाइट में सफर करते समय कई लोग विंडो सीट लेना पंसद करते हैं। ऐसे में विंडो सीट के लिए उन्हें अतिरिक्त शुल्क का भुगतान करना होता है। इस अतिरिक्त शुल्क को लेकर लोकसभा में सवाल उठाया गया है। सभा में विमानन मंत्रालय से पूछा गया कि वेब चेक-इन में अतिरिक्त शुल्क क्यों लिया जा रहा है।

हवाई यात्रा के लिए फ्लाइट की टिकट ही लेना नहीं होता है। इसके लिए बोर्डिंग पास भी होना चाहिए। कई समय पर बोर्डिंग पास के लिए वेब चेक-इन प्रोसेस को फॉलो करना होता है। वेब चेक-इन के जरिये बोर्डिंग पास पाने के लिए अतिरिक्त शुल्क का भुगतान करना होता है। इसमें यात्री अपने लिए सीट सेलेक्ट कर सकते हैं।

इन सीटों के लिए उन्हें एक राशि का भुगतान करना होता है। यह पेमेंट फ्लाइट टिकट की पेमेंट से अलग होती है। अब इस अतिरिक्त शुल्क को लेकर लोकसभा में सवाल उठाया गया है। इसको लेकर विमानन मंत्रालय से जवाब मांगा जा रहा है। अभी तक इसको लेकर कोई औपचारिक जवाब नहीं आया है।

फ्लाइट में निशुल्क सीट कैसे लें

कोई भी यात्री जब भी एयरलाइन की टिकट खरीदता है तो वह सभी चार्ज और टैक्स का भुगतान करता है। ऐसे में उसे बोर्डिंग पास के लिए भी चार्ज का भुगतान करना सही है या नहीं। यह सवाल लोकसभा में पूछा गया है। वर्तमान में फ्लाइट में मनचाहा सीट सेलेक्ट करने के लिए अतिरिक्त शुल्क देना होता है।

ऐसे में अगर यात्री अपनी पंसद की सीट को सेलेक्ट नहीं करना चाहते हैं तो वो एयरलाइन द्वारा ऑटो-असाइन्ड सीट मोड के जरिये भी सीट ले सकते हैं। इसके लिए उन्हें कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा।

इसे भी पढ़ें:  CHHATTISGARH: छत्तीसगढ़ में कई जिलों के कलेक्टर समेत विभागों के सचिव बदले.................श्री भोसकर विलास संदीपान बने सरगुजा कलेक्टर

ऑटो-असाइन्ड सीट के ऑप्शन का इस्तेमाल कैसे करें

इंडिगो (Indigo) की वेबसाइट के अनुसार किसी भी यात्री को ऑटो-असाइन्ड सीट के ऑप्शन के लिए ऐप या वेबसाइट पर इसे सेलेक्ट करना होगा। इसके बाद उसे उड़ान से 12-6 घंटे पहले बोर्डिंग पास और सीट जैसे बाकी जानकारी मिल जाएगी।

वहीं अगर कोई यात्री अपनी मनचाही सीट लेना चाहता है तो उसे सर्विस टैब पर जाकर वेब चेक-इन का इस्तेमाल करना होगा।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!