NITI Aayog: देश में गरीबी से बाहर आए करीब 25 करोड़ लोग…….. नीति आयोग ने 9 सालों का जारी किया आंकड़ा

नीति आयोग द्वारा आज जारी चर्चा पत्र ‘2005-06 से भारत में बहुआयामी गरीबी’ से पता चलता है कि पिछले 9 वर्षों में भारत ने गरीबी उन्मूलन की दिशा में एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है. चर्चा पत्र के अनुसार, बहुआयामी गरीबी दर में 2013-14 के 29.17% (अनुमानित) से घटकर 2022-23 में 11.28% (अनुमानित) हो गई है. इसका मतलब है कि अनुमानित 24.82 करोड़ व्यक्ति पिछले 9 वर्षों में बहुआयामी गरीबी से बाहर निकलने में सफल रहे हैं.

यह गिरावट भारत के गरीबी उन्मूलन प्रयासों की सफलता को दर्शाती है. बहुआयामी गरीबी केवल आय पर आधारित नहीं होती है, बल्कि यह स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, आवास, बुनियादी सुविधाओं आदि जैसे कई आयामों को ध्यान में रखते हुए मापी जाती है. इस चर्चा पत्र से पता चलता है कि इन सभी क्षेत्रों में सुधार हुआ है, जिसके परिणामस्वरूप गरीबी में व्यापक कमी आई है.

इसे भी पढ़ें:  AMBIKAPUR: पीएम जनमन योजना - 148 करोड़ की लागत से 189.43 किमी सड़कों का होगा निर्माण....... पहाड़ी कोरवा बसाहटें सीधे जुड़ेंगी मुख्य सड़कों से, पीवीटीजी समुदायों तक आसानी से पहुंचेंगी सुलभ आवागमन की सुविधाएं

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!