July 18, 2024 10:32 pm

PAUSH AMAVASYA 2024: अमावस्या के दिन इन बातों का रखें ध्यान

सनातन धर्म में अमावस्या का दिन बहुत महत्वपूर्ण माना गया है। इस माह अमावस्या तिथि 11 जनवरी को पड़ रही है। यह दिन पितरों की पूजा के लिए समर्पित है। ऐसा कहा जाता है, इस विशेष दिन पितरों की पूजा करने से पितृ दोष का निवारण होता है।साथ ही जीवन कल्याण की ओर आगे बढ़ता है। वहीं इस दिन को लेकर कुछ नियम बनाए गए हैं, जिन्हें जानना बहुत जरूरी है। तो आइए जानते हैं –

अमावस्या पर इन कार्यों को करें


इस दिन व्रत करना शुभ माना जाता है।
सुबह जल्दी उठें और स्नान करने के बाद भगवान शिव और विष्णु की पूजा करें।
इस दिन पीपल के पेड़ पर सरसों के तेल का दीया जलाना शुभ माना जाता है।
इस विशेष दिन शनि देव के दुष्प्रभाव को दूर करने के लिए शनि मंदिर में सरसों का तेल, काली उड़द की दाल, एक लोहे का टुकड़ा, काला कपड़ा और एक नीला फूल चढ़ाएं। साथ ही उनके मंत्रों का जाप करें।
अमावस्या के दिन मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं। इससे धन संबंधित सभी बाधाएं दूर होती हैं।
गाय को पांच प्रकार के फल खिलाएं, इससे परिवार में शांति और सद्भाव बना रहेगा।
इस दिन पूर्वजों का तर्पण करें और उनसे आशीर्वाद लें।
अमावस्या के दिन भूलकर भी न करें ये कार्य
कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए।
तुलसी पत्र और बेल पत्र नहीं तोड़ना चाहिए।
तामसिक भोजन जैसे- मांस, मछली, अंडा लहसुन और प्याज आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
बाहर जाने या लंबी यात्रा से बचना चाहिए।
जीवन बदलने वाला कोई भी निर्णय नहीं लेना चाहिए।
किसी भी तरह के लड़ाई-झगड़े से बचना चाहिए।
क्रोध और अभद्र भाषा के प्रयोग से दूर रहना चाहिए।
अगर बाहर जाना बहुत जरूरी है, तो चंद्र गायत्री मंत्र का जाप करके घर से बाहर निकलें। साथ ही भगवान का स्मरण करते रहें।

इसे भी पढ़ें:  Indian Navy Recruitment 2023: इंडियन नेवी में अप्रेन्टिस के 275 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन की आखिरी तिथि है आज ………जल्द करें आवेदन

इस लेख में निहित किसी भी जानकारी की सटीकता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!