July 18, 2024 1:23 am

CBSE Result 2024: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कक्षा 12वीं के परिणाम जारी……. पिछले साल की अपेक्षा इस बार 90 फीसदी से अधिक नंबर लाने वालों की संख्या बढ़ी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने सोमवार को 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित कर दिए जिसके मुताबिक 90 प्रतिशत और 95 प्रतिशत से अधिक अंक पाने वालों की संख्या में पिछले साल की तुलना में क्रमश: 1,400 और 4000 की वृद्धि हुई है. आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल के मुकाबले उत्तीर्ण प्रतिशत में भी आंशिक वृद्धि हुई है और यह 87.33 से बढ़कर 87.98 प्रतिशत हो गया है. इस बार फिर लड़कियों ने बाजी मारी है और छात्रों के मुकाबले छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 6.40 प्रतिशत अधिक है. सीबीएसई ने घोषणा की है कि ‘‘अस्वस्थ प्रतिस्पर्धा से बचने’’ के लिए मेधा सूची जारी नहीं की जाएगी.

अधिकारियों ने बताया कि अंकों के आधार पर प्रथम, द्वितीय और तृतीय श्रेणी में वर्गीकरण को भी समाप्त कर दिया गया है. सीबीएसई परीक्षा नियंत्रक सन्यम भारद्वाज ने कहा, ‘‘विद्यार्थियों के बीच अस्वस्थ प्रतिस्पर्धा को रोकने के लिए बोर्ड में लिए गए फैसले के तहत सीबीएसई मेधा सूची नहीं जारी कर रहा है। हालांकि, बोर्ड 0.1 प्रतिशत विद्यार्थियों को मेधा प्रमाणपत्र जारी करेगा जिन्होंने विभिन्न विषयों में सर्वाधिक अंक अर्जित किए हैं. 

बोर्ड के मुताबिक, 1.16 लाख विद्यार्थियों को 90 प्रतिशत से अधिक अंक मिले हैं जबकि 24,068 विद्यार्थी 95 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने में सफल हुए हैं। पिछले साल 1.12 लाख विद्यार्थियों का पूर्णांक 90 प्रतिशत से अधिक था जबकि 95 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वालों की संख्या 22,622 थी. सीबीएसई ने बताया कि 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले 262 विद्यार्थी विशेष आवश्यकता वाले बच्चे (सीएसडब्ल्यूएन) हैं। सीएसडब्ल्यूएन श्रेणी के 43 विद्यार्थियों ने 95 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए हैं.

इसे भी पढ़ें:  Free Electricity: देश के हर गरीब को 200 यूनिट बिजली मुफ्त! इस मुख्यमंत्री का बड़ा ऐलान

इस साल 16.21 लाख से अधिक विद्यार्थियों ने 12वीं कक्षा की परीक्षा दी थी. त्रिवेंद्रम क्षेत्र के सबसे अधिक 99.91 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं जबकि सबसे कम उत्तीर्ण प्रतिशत प्रयागराज का रहा है जहां महज 78.25 प्रतिशत विद्यार्थी ही उत्तीर्ण हुए हैं. आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल 1.25 लाख विद्यार्थियों की ‘कम्पार्टमेंट’ आई थी। इस साल यह संख्या 1.22 लाख है.

केंद्रीय तिब्बती स्कूल प्रशासन के तहत आने वाले विद्यालयों का उत्तीर्ण प्रतिशत सबसे अधिक 99.23 रहा। इसके बाद जवाहर नवोदय विद्यालयों के 98.90 प्रतिशत विद्यार्थी और केंद्रीय विद्यालयों के 98.81 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं. सरकारी सहायता प्राप्त और सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत क्रमश: 91.42 और 88.23 रहा। निजी स्कूलों के कुल 87.70 प्रतिशत विद्यार्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए हैं।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!