Child Begging: बाल भिखारियों से मुक्त बनेगा भारत का ये शहर………… बच्चे भीख मांगते दिखे तो इस नंबर पर दें सूचना, मिलेंगे 1000 रुपये

इंदौर को बाल भिक्षुकों से पूरी तरह मुक्त करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है. इस सामाजिक बुराई के खिलाफ कड़ा रुख अपनाते हुए, इंदौर प्रशासन ने शहर भर में बाल भिक्षावृत्ति उन्मूलन के लिए एक अभियान शुरू किया है. प्रशासन ने सड़कों पर भीख मांगने के लिए मजबूर किए जा रहे बच्चों के बारे में जानकारी देने वाले को 1000 रुपये का नकद इनाम देने की घोषणा की है. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, यह पहल उस घटना के ठीक बाद की है, जहां एक महिला ने अपने बच्चे के साथ इंदौर की सड़कों पर केवल छह सप्ताह में भिक्षा के माध्यम से 6 लाख रुपये कमाए थे. बाद में प्रशासन ने भिखारी और उसके 8 साल के बच्चे को शहर के लव-कुश चौराहे के पास से बचाया.

इंदौर कलेक्टर के आधिकारिक हैंडल एक्स पर पोस्ट किया गया, “बाल भिक्षावृत्ति की घटनाओं की रिपोर्ट करने वाले नागरिकों को नकद इनाम मिलेगा. बाल भिक्षा प्रथाओं की रिपोर्ट करने के लिए एक व्हाट्सएप नंबर, 9691729017 नामित किया गया है.”

इसे भी पढ़ें:  AMBIKAPUR: मैनपाट महोत्सव 2024 - जानें मैनपाट की सुंदरता और मैनपाट महोत्सव को

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!