Aadhar Update: तेज़ी से बढ़ रहा है फर्जी आधार कार्ड का मामला. . . . ID प्रूफ के तौर पर लेने से पहले जरूर करें वेरीफाई. . . . जाने वेरीफाई करने का तरीका

दोस्तों के साथ इस समाचार को शेयर करें:

भारत में रहने वाले हर एक इंसान की सबसे बड़ी पहचान है. आधार कार्ड एक ऐसा डॉक्यूमेंट है, जिसपर आप भरोसा कर सकते हैं. लेकिन आज के समय में नकली आधार कार्ड के कई मामले सामने आ रहे हैं. इसलिए किसी व्यक्ति की पहचान स्थापित करने के लिए आधार को भौतिक या इलेक्ट्रॉनिक रूप में स्वीकार करने से पहले संस्थाओं को आधार को सत्यापित करना चाहिए.

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) का कहना है कि आधार धारक की सहमति के बाद आधार संख्या का सत्यापन आधार के किसी भी रूप (आधार पत्र, ई-आधार, आधार पीवीसी कार्ड और एम-आधार) की वास्तविकता स्थापित करने के लिए सही कदम है.

ऐसे करें वेरीफाई 

पहला तरीका 

mAadhaar App, या आधार क्यूआर कोड स्कैनर का उपयोग करके आधार के सभी रूपों (आधार पत्र, ई-आधार, आधार पीवीसी कार्ड और एम-आधार) पर उपलब्ध क्यूआर कोड का उपयोग करके सत्यापित किया जा सकता है. क्यूआर कोड स्कैनर एंड्रॉइड और आईओएस आधारित मोबाइल फोन के साथ-साथ विंडो-आधारित एप्लिकेशन दोनों के लिए फ्री में उपलब्ध है.

दूसरा तरीका 

आप आधार कार्ड के नंबर से भी किसी के आधार कार्ड को वेरीफाई कर सकते हैं.  यूआईडीएआई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं. इसके बाद My Aadhaar. अब Aadhaar Services पर क्लिक करे Verify an Aadhaar Number का विकल्प चुनें . अब आप 12 अंकों की यूनिक आईडी नंवर और कैप्चा कोड दर्ज करें.  इसके बाद ‘प्रोसीड टू वेरिफाई पर क्लिक करें.

इसे भी पढ़ें:  Indian Railway: भारतीय रेलवे का राजस्व 38 प्रतिशत से बढ़कर 95,486.58 करोड़ रुपये पहुंचा

निवासी कागज या इलेक्ट्रॉनिक रूप में अपना आधार प्रस्तुत करके अपनी पहचान स्थापित करने के लिए स्वेच्छा से आधार संख्या का उपयोग कर सकते हैं. यूआईडीएआई ने पहले ही निवासियों के लिए क्या करें और क्या न करें जारी किया है, और निवासी अपने आधार का उपयोग पूरे विश्वास से कर सकते हैं.

अम्बिकापुरसिटी.कॉम: हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप को ज्वाइन करें | हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन करें | ट्विटर पर हमें फॉलो करें | हमारे फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करें | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें |

निवासी कागज या इलेक्ट्रॉनिक रूप में अपना आधार प्रस्तुत करके अपनी पहचान स्थापित करने के लिए स्वेच्छा से आधार संख्या का उपयोग कर सकते हैं. यूआईडीएआई ने पहले ही निवासियों के लिए क्या करें और क्या न करें जारी किया है, और निवासी अपने आधार का उपयोग पूरे विश्वास से कर सकते हैं.

UIDAI ने राज्यों से किया अनुरोध 

यूआईडीएआई ने उपयोग से पहले सत्यापन की आवश्यकता पर जोर देकर राज्य सरकारों से अनुरोध किया है और राज्यों से आग्रह किया है कि वे आवश्यक दिशा-निर्देश दें ताकि जब भी आधार को पहचान के प्रमाण के रूप में प्रस्तुत किया जाता है तो निवासी का प्रमाणीकरण/सत्यापन संबंधित इकाई द्वारा आधार का उपयोग करके किया जाए.

यूआईडीएआई ने अनुरोध करने वाली संस्थाओं, प्रमाणीकरण/सत्यापन करने के लिए अधिकृत, और अन्य संस्थाओं को सत्यापन की आवश्यकता पर बल देते हुए और प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए खास सर्कुलर भी जारी किया है.

अम्बिकापुरसिटी.कॉम: हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप को ज्वाइन करें | हमारे टेलीग्राम ग्रुप को ज्वाइन करें | ट्विटर पर हमें फॉलो करें | हमारे फेसबुक ग्रुप को ज्वाइन करें | हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें |

इसे भी पढ़ें:  SURGUJA: खाद्य मंत्री ने किया मां महामाया एयरपोर्ट के उन्नयन कार्य का निरीक्षण........ कार्यो में और तेजी लाने के निर्देश

इसे भी पढ़ें