NEET UG 2024 : नीट यूजी के योग्यता नियमों में हुआ बदलाव………..जानें कौन कर सकता है अब आवेदन

मेडिकल संस्थानों के स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) 5 मई, 2024 को होगी।इस परीक्षा के लिए पंजीकरण प्रक्रिया जनवरी के आखिरी सप्ताह में शुरू होने की संभावना है।राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (NMC) ने इस परीक्षा के पात्रता मानदंड से पाठ्यक्रम में कई बदलाव किए हैं। पंजीकरण से पहले उम्मीदवारों को इनके बारे में जरूर जानना चाहिए।आइए आपको परीक्षा में हुए प्रमुख बदलावों के बारे में बताते हैं।

योग्यता मानदंड क्या बदलाव हुए?

पहले 12वीं में अंग्रेजी, भौतिकी, रसायन विज्ञान के साथ मुख्य विषय के रूप में जीव विज्ञान की पढ़ाई अनिवार्य थी।अब अंग्रेजी, गणित, रसायन विज्ञान और भौतिकी के साथ अतिरिक्त विषय के रूप में जीव विज्ञान/जीव प्रौद्योगिकी का अध्ययन करने वाले छात्र भी परीक्षा दे सकेंगे।गणित, भौतिकी और रसायन विज्ञान से 12वीं पास करने वाले छात्र भी NEET UG में शामिल हो सकेंगे।हालांकि, उन्हें अतिरिक्त विषय के तौर पर जीव प्रौद्योगिकी की परीक्षा जरूर देनी होगी।

क्या प्राइवेट छात्र भी दे सकेंगे परीक्षा?

पहले MBBS या BDS कोर्स में दाखिले के लिए 11वीं और 12वीं में अंग्रेजी, रसायन विज्ञान, भौतिकी और जीव विज्ञान की नियमित पढ़ाई आवश्यक थी।मुक्त विद्यालयों से या प्राइवेट छात्र के रूप में पढ़ाई कर रहे अभ्यर्थी परीक्षा में आवेदन के पात्र नहीं थे, लेकिन अब इस नियम को बदला गया है।प्राइवेट छात्र भी परीक्षा दे सकते हैं। इन बदलावों से गणित से 12वीं पास करने वाले युवाओं को भी बड़ी राहत मिलेगी।

पाठ्यक्रम में क्या बदलाव हुए?

NEET UG के पाठ्यक्रम में कुछ प्रमुख बदलाव किए गए हैं। अध्यायों की संख्या 97 से घटाकर 79 कर दी गई है।पाचन, अवशोषण और जीवों में प्रजनन जैसे विषयों को हटा दिया गया है। पाठ्यक्रम में मौलिक सिद्धांतों को समझने पर जोर दिया गया है।रसायन विज्ञान से पदार्थों के वर्गीकरण, सरफेस केमिस्ट्री जैसे टॉपिक हटाए गए हैं। केमिकल थर्मोडायेमिक्स और बायोमॉलिक्यूल्स के टॉपिक जोड़े गए हैं।उम्मीदवार आधिकारिक वेबासइट से संशोधित पाठ्यक्रम देख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:  AMBIKAPUR: विभिन्न शासकीय कार्यालयों में मनाया गया संविधान दिवस...........संविधान की प्रस्तावना का किया गया पाठन...............राष्ट्र की एकता और अखण्डता को सुरक्षित रखने ली गई शपथ

नए नियम कब से लागू होंगे?

NEET UG परीक्षा का आयोजन सरकारी और निजी मेडिकल कॉलेजों में MBBS, BDS, BHMS, BAMS, BUMS और BSc नर्सिंग कोर्स में प्रवेश के लिए किया जाता है।इस बार NMC ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत योग्यता और पाठ्यक्रम में बदलाव किए हैं।ये बदलाव अगले साल होने वाली NEET UG परीक्षा में लागू हो जाएंगे।परीक्षा 13 भाषाओं अंग्रेजी, हिंदी, असमी, बंगाली, गुजराती, मराठी, तमिल, तेलुगु, कन्नड़, मलयालम, पंजाबी, ऊर्दू और उड़िया भाषा में आयोजित होगी।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!