PROGRAM DISCONTINUED: विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने इस प्रोग्राम कर दिया बंद……………..छात्रों को इस पाठ्यक्रम में प्रवेश न लेने की दी चेतावनी

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने एमफिल प्रोग्राम बंद कर दिया है। यूजीसी ने अब छात्रों को इस पाठ्यक्रम में प्रवेश न लेने की चेतावनी दी है, क्योंकि यह अब एक मान्यता प्राप्त डिग्री नहीं है। आयोग ने कहा कि कुछ विश्वविद्यालय अभी भी एम.फिल (मास्टर ऑफ फिलॉसफी) कार्यक्रम के लिए नए आवेदन आमंत्रित कर रहे हैं, लेकिन इस डिग्री को बंद कर दिया गया है।

यूजीसी ने कहा, “यह सूचित किया जाता है कि यूजीसी ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (पीएचडी डिग्री प्रदान करने के लिए न्यूनतम मानक और प्रक्रियाएं) विनियम, 2022 तैयार किया है जिसे 7 नवंबर, 2022 को भारत के राजपत्र में प्रकाशित किया गया है।” विश्वविद्यालय के अधिकारियों को भी 2023-24 शैक्षणिक वर्ष के लिए एम.फिल कार्यक्रम में प्रवेश रोकने के लिए तत्काल कदम उठाने का निर्देश दिया गया है।

यूजीसी सचिव मनीष जोशी ने कहा, “संज्ञान में आया है कि कुछ विश्वविद्यालय एम.फिल के लिए नए आवेदन आमंत्रित कर रहे हैं। इस संबंध में, यह ध्यान में लाना है कि एम.फिल. डिग्री कोई मान्यता प्राप्त डिग्री नहीं है। यूजीसी (पीएचडी डिग्री प्रदान करने के लिए न्यूनतम मानक और प्रक्रियाएं) विनियम 2022 के विनियमन संख्या 14 में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि उच्च शैक्षणिक संस्थान एम.फिल की पेशकश नहीं करेंगे।”

इसे भी पढ़ें:  SURGUJA: जिलें में विशेष रूप से कमजोर जनजाति समूहों की सामाजिक तथा आर्थिक स्थिति में सुधार करने की हुई शुरूआत.............घर-घर पहुंच रहा प्रशासन...........योजनाओं से जोड़ने लिए गए आवेदन..........कार्यवाही शुरू

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!