CBSE: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने की कार्रवाई; गाइडलाइन का पालन नहीं करने वाले छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश समेत कई राज्यों के स्कूलों की मान्यता की रद्द

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने गाइडलाइन फॉलो नहीं करने वाले 10 राज्यों के 20 स्कूलों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। सीबीएसई बोर्ड ने ऐसे स्कूलों का एफिलिएशन कैंसिल करते हुए कुछ स्कूलों को डाउनग्रेड भी कर दिया है। इन स्कूलों में छत्तीसगढ़ के भी दो स्कूलों का नाम शामिल है।

दरअसल, सीबीएसई बोर्ड इन स्कूलों को चलाने के लिए कुछ दिशानिर्देश जारी किए है। स्कूलों में समय समय पर इन नियमों का पालन हो रहा है या नहीं इसके लिए बोर्ड ने कुछ समय पहले ही देश के कई राज्यों में औचक निरीक्षण भी किया। इंस्पेक्शन में पाया गया कि कई स्कूल ऐसे हैं जो इन दिशानिर्देशों का सहीं ढंग से पालन नहीं कर रहे है। जांच के बाद सीबीएसई बोर्ड ने ऐसे स्कूलों पर बड़ा एक्शन लिया है। जिन स्कूलों का एफिलिएशन कैंसिल हुआ है उनके नाम नीचे देखें

एफिलिएशन कैंसिल

1.छत्तीसगढ़ में द्रोणाचार्य पब्लिक स्कूल, विकोन स्कूल विधानसभा रोड।

2.दिल्ली में सिद्धार्थ पब्लिक स्कूल, भारत माता सरस्वती मंदिर, नेशनल पब्लिक स्कूल,चंदराम पब्लिक स्कूल, मेरीगोल्ड पब्लिक स्कूल।

Also Read – CM गिरफ्तार: जेल से चलाएंगे सरकार, इस मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की हुई गिरफ्तारी…
3.जम्मूकश्मीर में करतार पब्लिक स्कूल।

4.राजस्थान में प्रिंस यूसीएच माध्यमिक विद्यालय, ग्लोबल इंडियन इंटरनेशनल स्कूल जोधपुर।

5.महाराष्ट्र में राहुल इंटरनेशनल स्कूल ठाणे, पायोनिर पब्लिक स्कूल।

6.असम में साई आरएनएस स्कूल गुहावटी।

7.मध्यप्रदेश में सरदार पटेल पब्लिक स्कूल भोपाल।

8.उत्तरप्रदेश में लॉयल पब्लिक स्कूल बुलंदशहर, ट्रिनिटी वर्ल्ड स्कूल गौतम बुद्ध नगर, क्रीसेंट कान्वेंट स्कूल गाजीपुर।

9.केरल में पीवीसी पब्लिक स्कूल, मदर टेरेसा स्कूल।

इसे भी पढ़ें:  HOLIKA DHAHAN 2024: होलिका दहन आज है भद्रा का साया, भूलकर भी ना करें ये काम! यहां जानें शुभ मुहूर्त-पूजा विधि समेत जरूरी जानकारी

10.उत्तराखंड में ज्ञान ईस्टन इंटरनेशनल स्कूल, देहरादून शामिल है।

दो राज्यों के स्कूलों को डाउनग्रेड

जिन स्कूलों को डाउनग्रेड किया गया है उनमें दिल्ली का विवेकानंद स्कूल नरेला दिल्ली और पंजाब श्री दसमेश सीनियर सेकेंडरी पब्लिक स्कूल है।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!