CHHATTISGARH: प्रदेश में स्वास्थ्य अधोसंरचना को बेहतर और मजबूत बनाया जाएगा- स्वास्थ्य मंत्री जायसवाल

बैकुंठपुर में सर्जन सहित विशेषज्ञ डॉक्टरों की जल्द होगी पदस्थापना, जिला अस्पताल का निरीक्षण

स्वास्थ्य मंत्री श्री श्याम बिहारी जायसवाल ने कहा है कि प्रदेश में स्वास्थ्य अधोसंरचना को और बेहतर बनाया जाएगा। सभी अस्पतालों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए अत्याधुनिक उपकरणों से सुसज्जित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अस्पतालों के निरीक्षण के दौरान मिल रही कमियों को दूर करने के प्रयास किए जा रहे है। अस्पतालों की व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए लगातार श्री जायसवाल प्रदेशभर के अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे है, जो आगे भी जारी रहेगा।

बैकुंठपुर में सर्जन सहित विशेषज्ञ डॉक्टरों की जल्द होगी पदस्थापना, जिला अस्पताल का निरीक्षण

श्री जायसवाल ने कल बैकुण्ठपुर प्रवास के दौरान जिला अस्पताल का निरीक्षण किया और मरीजों से अस्पताल में मिल रही सुविधाओं के बारे जानकारी ली। उन्होंने जिला अस्पताल और मातृ शिशु अस्पताल के निर्माणाधीन नये भवन का भी अवलोकन किया और अधिकारियों को एक माह के भीतर निर्माण कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान बैकुण्ठपुर विधायक श्री भईया लाल राजवाड़े, कलेक्टर श्री विनय कुमार लंगेह, पुलिस अधीक्षक श्री त्रिलोक बंसल एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे।

बैकुंठपुर में सर्जन सहित विशेषज्ञ डॉक्टरों की जल्द होगी पदस्थापना, जिला अस्पताल का निरीक्षण

विशेषज्ञ डॉक्टरों की होगी पदस्थापना-
मंत्री श्री जायसवाल ने जिला अस्पताल के आपातकालीन चिकित्सा कक्ष, माइनर ऑपरेशन कक्ष, कीमोथेरेपी वार्ड, ब्लड बैंक, शिशु वार्ड, सीटी स्कैन कक्ष, डायलिसिस कक्ष, रसोई गृह आदि वार्डों का निरीक्षण किया साथ ही मरीजों को दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। जिला अस्पताल में जनरल सर्जन, स्त्री रोग विशेषज्ञ, शिशु विशेषज्ञ व एनेस्थीसिया के डॉक्टरों की कमी पर मंत्री श्री जायसवाल ने कहा कि शीघ्र ही जिला अस्पताल बैकुण्ठपुर में सर्जन एवं डॉक्टरों की पदस्थापना की जाएगी।

मरीजों से जाना हाल-चाल
स्वास्थ्य मंत्री श्री श्याम बिहारी जायसवाल ने वार्ड में भर्ती श्री अजय कोड़मेहरा से स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली। मरीज श्री अजय ने बताया कि दो-तीन दिन से उल्टी होने के कारण वे यहां भर्ती हुए हैं। इसी तरह किडनी रोग से पीड़ित डायलिसिस के लिए भर्ती हुए श्री ओमप्रकाश दत्ता तथा श्रीमती महिमा बुनकर ने मंत्री से अपनी समस्याओं को साझा की। मंत्री श्री जायसवाल ने डायलिसिस पीड़ित बुजुर्गों को मुफ्त में दवाई देने तथा किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लेने की हिदायत भी दी। गंभीर मरीजों को तत्काल मेडिकल कॉलेज ले जाने के निर्देश दिए। मरीजों तथा उनके परिजनों के लिए स्वच्छ गुणवत्तापूर्ण, पौष्टिक गरम भोजन, पेयजल की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

एम्बुलेंस एवं शव वाहन की होगी व्यवस्था-

मंत्री श्री जायसवाल ने एम्बुलेंस के संबंध में जानकारी ली, जिस पर अधिकारियों ने बताया कि पुरानी एम्बुलेंस खराब हो गयी है। तत्काल मंत्री ने नए एम्बुलेंस तथा शव वाहन के लिए कलेक्टर के माध्यम से प्रस्ताव तैयार कर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए तथा पांच एम्बुलेंस एवं दो शव वाहन की व्यवस्था शासन स्तर पर करने का आश्वासन भी दिया।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!