PANCHANG: 26 नवम्बर 2022 का पंचांग: जानें कब से शुरू हो रहा है पौष मास, जिसमें की जाएगी भगवान सूर्य की उपासना……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह कृष्ण पक्ष की तृतीया है।संकट निवारण हेतु शनि देव का पावन व्रत है।मूल नक्षत्र है। सूर्य वृश्चिक राशि में है। भगवान शिव जी की उपासना करें।दुर्गासप्तशती का पाठ करें।सिद्धिकुंजिकास्तोत्र व सप्तश्लोकीदुर्गा का 09 पाठ करें। आज हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए सुन्दरकाण्ड का पाठ करें । भगवान विष्णु जी की उपासना के साथ माता लक्ष्मी जी की पूजा भी करें। श्री सूक्त के पाठ करने…

Read More

PANCHANG: 25 नवम्बर 2022 का पंचांग: क्या आप जानते हैं आपका बर्थ स्टोन कौन सा है, एक रत्न बदल सकता है आपकी किस्मत……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह शुक्ल पक्ष की द्वितीया है।आज शुक्रवार का महान व पावन व्रत है।आज व्रत रहने से कई जन्मों के पापों का शमन होता है। आज का पावन व्रत बहुत फलित होता है ,साथ में कुछ लोगों का वैभव लक्ष्मी जी का उपवास भी आज ही है।आज भगवान विष्णु व माता लक्ष्मी जी की पूजा व व्रत की जाती है।ज्येष्ठा नक्षत्र है।आज अन्न व फल का दान करें।आज गणेश…

Read More

PANCHANG: 24 नवम्बर 2022 का पंचांग: नए साल में कब और किस समय लगेगा ग्रहण, यहां जानिए चंद्र और सूर्यग्रहण की तिथि व समय……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा है। मार्गशीर्ष माह में कृष्ण पूजा का अनन्त पुण्य है। गुरुवार को भगवान विष्णु जी की पूजा व व्रत की जाती है।अनुराधा नक्षत्र है।आज अन्न दान करें।आज गुरूवार को विष्णु जी की उपासना के साथ लक्ष्मी जी की पूजा भी करें। आज श्री सूक्त का पाठ करें।हनुमानबाहुक के पाठ का आज बहुत महत्व है। सायंकाल विष्णु मंदिर में भगवान की 04 परिक्रमा करें।हनुमान…

Read More

PANCHANG: 23 नवम्बर 2022 का पंचांग: धार्मिक कार्यों में शुभ माना जाता है गेंदे का फूल, पूजा-पाठ में जरूर करें प्रयोग……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी है।आज मार्गशीर्ष अमावस्या है। गणेश जी की उपासना करें।शक्ति उपासना करें। दुर्गासप्तशती का पाठ करें। आज बुधवार को भगवान शिव जी व गणेश जी की पूजा व व्रत की जाती है।आज शिव मंदिर में शिव जी का रुद्राभिषेक करें।आज विष्णु जी की उपासना के साथ लक्ष्मी जी की पूजा भी करें। आज श्री सूक्त का पाठ करें।हनुमानबाहुक के पाठ का आज बहुत महत्व…

Read More

PANCHANG: 22 नवम्बर 2022 का पंचांग: गरुड़ पुराण में बताया गया है कि जीवन में किन 4 कार्यों को रोजाना करना चाहिए……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी है। आज हनुमान जी को प्रसन्न करने की तिथि है। आज सुंदरकांड का पाठ करें। आज मंगलवार का व्रत भी है। घर पर व मन्दिर में हनुमान जी की पूजा करते हैं। भगवान राम के नाम का संकीर्तन महापुण्य है। स्वाती नक्षत्र है। आज श्री विष्णुसहस्रनाम का पाठ करें।आज विष्णु जी की उपासना के साथ लक्ष्मी जी की पूजा भी करें। आज मंगलवार…

Read More

PANCHANG: 21 नवम्बर 2022 का पंचांग: शिव पुराण में बताया गया है महादेव को प्रसन्न करने का रहस्य, यहां जानिए……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि है।आज सोमवार है।भगवान शिव जी को समर्पित पावन व्रत है। आज कनकधारा स्तोत्र,श्री सूक्त व दुर्गासप्तशती का पाठ व हवन करें।चित्रा नक्षत्र है।आज भगवान शिव जी की उपासना के साथ हनुमान जी की पूजा भी करें। आज सुंदरकांड के पाठ करने का बहुत सुंदर अवसर है। मंदिर में हनुमान जी का दर्शन करें। श्री रामचरितमानस का पाठ करें।गीता के पाठ का आज…

Read More

PANCHANG: 20 नवम्बर 2022 का पंचांग: मार्गशीर्ष पूर्णिमा व्रत कब? जानें तिथि, मुहूर्त और चंद्र पूजा का महत्व……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह कृष्ण पक्ष की एकादशी है।हस्त नक्षत्र है।आज प्रीति योग है। एकादशी को भगवान विष्णु जी की पूजा की जाती है।सत्यनारायण कथा सुनते हैं।इस व्रत का बहुत महत्व है। आज माता दुर्गा जी की उपासना करें।दुर्गासप्तशती का पाठ करें।रविवार को भगवान आदित्य जी का पावन व्रत भी रखते हैं।आज भगवान विष्णु जी की उपासना के साथ सूर्य पूजा भी करें। आज श्री आदित्यह्र्दयस्तोत्र के पाठ करने का बहुत…

Read More

PANCHANG: 19 नवम्बर 2022 का पंचांग: शनि के प्रकोप को करना है कम तो ऐसे करें चंदन का इस्तेमाल, शनिदोष से मिलेगी मुक्ति……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह कृष्ण पक्ष की दशमी है।10:21am के बाद एकादशी है।संकट निवारण हेतु शनिवार का पावन व्रत है।उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र है। सूर्य वृश्चिक राशि में है। भगवान शिव जी की उपासना करें। दुर्गासप्तशती का पाठ करें।सिद्धिकुंजिकास्तोत्र व सप्तश्लोकीदुर्गा का 09 पाठ करें। आज हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए सुन्दरकाण्ड का पाठ करें । भगवान विष्णु जी की उपासना के साथ माता लक्ष्मी जी की पूजा भी करें। श्री…

Read More

PANCHANG: 18 नवम्बर 2022 का पंचांग: नजर दोष से निजात पाने के लिए अपनाएं ये उपाय, जल्द मिलेगा लाभ……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह कृष्ण पक्ष की नवमी है।आज नवमी का महान व पावन व्रत है।आज व्रत रहने से कई जन्मों के पापों का शमन होता है। आज का पावन व्रत बहुत फलित होता है ,साथ में कुछ लोगों का वैभव लक्ष्मी जी का उपवास भी आज ही है।आज भगवान विष्णु व माता लक्ष्मी जी की पूजा व व्रत की जाती है।पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र है।आज अन्न व फल का दान करें।आज गणेश…

Read More

PANCHANG: 17 नवम्बर 2022 का पंचांग: कुंडली में राहु के प्रकोप को शांत करता है गोमेद रत्न, लेकिन यह लोग बिल्कुल भी न करें धारण……..पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

प्रातःकाल पञ्चाङ्ग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। आज मार्गशीर्ष माह कृष्ण पक्ष की अष्टमी है।मार्गशीर्ष माह में भगवान कृष्ण पूजा का अनन्त पुण्य है। गुरुवार को भगवान विष्णु जी की पूजा व व्रत की जाती है। मघा नक्षत्र है।आज अन्न दान करें। आज गुरूवार को विष्णु जी की उपासना के साथ लक्ष्मी जी की पूजा भी करें। आज श्री सूक्त का पाठ करें। हनुमानबाहुक के पाठ का आज बहुत महत्व है। सायंकाल विष्णु मंदिर में भगवान की…

Read More