Cotton Candy: कॉटन कैंडी में खतरनाक रसायन…….. बच्चों को कॉटन कैंडी खिलाने से पहले हजार बार सोचे, इसके गुलांबी रंग में छिपा है जहर

तमिलनाडु और पुडुचेरी में हाल ही में खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा की गई जांच में पाया गया कि बच्चों का पसंदीदा कॉटन कैंडी में एक जहरीला तत्व रोडामाइन बी पाया गया है. इस वजह से तमिलनाडु सरकार ने कॉटन कैंडी की बिक्री पर रोक लगा दी है. वहीं, पुडुचेरी में भी इसकी बिक्री पहले ही प्रतिबंधित कर दी गई थी. हालांकि, बिना रंग वाले कॉटन कैंडी की बिक्री पर अभी कोई रोक नहीं है.

कॉटन कैंडी में पाया गया रोडामाइन बी एक सिंथेटिक डाई है जो इसे गुलाबी रंग देता है. इस रसायन का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर कपड़ा, कागज और चमड़े के उद्योगों में किया जाता है. इसका कारण यह है कि यह पानी में जल्दी घुल जाता है और सस्ता होता है. रोडामाइन बी जैव निम्नीकरणीय नहीं है और गर्मी और प्रकाश के प्रति सहनशील होता है.

रोडामाइन बी को कपड़ा, चमड़ा और अन्य उद्योगों में ‘रंगद्रव्य’ के रूप में इस्तेमाल करने की अनुमति है, लेकिन खाद्य पदार्थों में इसके इस्तेमाल की मनाही है. खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के तहत खाद्य पदार्थों के निर्माण, प्रसंस्करण और वितरण में इसके उपयोग को दंडनीय अपराध माना जाता है.

इससे कैंसर का खतरा

रोडामाइन बी कार्सिनोजेनिक और म्यूटाजेनिक (कैंसर कारक) है. इससे त्वचा के रोग, सांस में तकलीफ़ होना, लीवर और किडनी को नुकसान जैसी समस्याएं हो सकती हैं. “रोडामाइ बी के लगातार इस्तेमाल से लीवर कैंसर हो सकता है

कैसे करें मिलावट की पहचान?

हालांकि यह जरूरी नहीं है कि हर खाद्य पदार्थ में रोडामाइन बी हो, लेकिन आप घर पर भी यह जांच सकते हैं कि किसी खाद्य पदार्थ में यह रसायन है या नहीं.

इसे भी पढ़ें:  AMBIKAPUR: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों अंबिकापुर-शिवनगर 52 किमी सड़क का हुआ लोकार्पण........... सड़क निर्माण से बढ़ी कनेक्टिविटी, राजधानी रायपुर से दूरी हुई कम, छत्तीसगढ़ में 34,427 करोड़ रूपए की 10 परियोजनाओं हुआ लोकार्पण और शिलान्यास

रोडामाइन बी पानी और तेल में आसानी से घुल जाता है। FSSAI ने इस रसायन की उपस्थिति का पता लगाने के तरीके सुझाए हैं. उदाहरण के लिए, शकरकंद की सतह पर रोडामाइन बी की उपस्थिति का पता घर पर लगाया जा सकता है.

इसके लिए, रुई को पानी या तेल में भिगोकर शकरकंद की सतह पर रगड़ें. अगर यह गुलाबी हो जाता है तो इसमें रोडामाइन बी मिलाया गया है.. यही तरीका रागी के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. खाद्य पदार्थों में रोडामाइन बी और अन्य प्रतिबंधित रसायनों की उपस्थिति का पता लगाने के तरीके बताते वाले वीडियो FSSAI के YouTube पेज पर उपलब्ध हैं.

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!