AMBIKAPUR: के आर टेक्निकल कॉलेज में फिट इंडिया कार्यक्रम के तहत मेडिटेशन का कराया गया अभ्यास………… भारतीय खेल प्राधिकरण के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है कार्यक्रम

आज के आर टेक्निकल कॉलेज अंबिकापुर के सभागार में आइक्युएसी और स्पोर्ट्स क्लब के द्वारा भारतीय खेल प्राधिकरण के सहयोग से 9 जनवरी 2024 तक चलने वाले फिट इंडिया के कार्यक्रम के तहत प्रजापति ब्रह्माकुमारी विश्वविद्यालय अंबिकापुर केंद्र की संचालिका ब्रम्हकुमारी विद्या दीदी और ब्रम्हकुमारी माधुरी दीदी के सानिध्य में मेडिटेशन का अभ्यास कराया गया। इस कार्यक्रम में महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीमती रीनू जैन, प्राचार्य डॉ. रितेश वर्मा, नैक समन्वयक मोहम्मद अफरोज अंसारी, आइक्यूएसी समन्वयक सुश्री प्रज्ञा सिंह राजपूत, कल्चरल क्लब के समन्वयक श्री संदीप डे, स्पोर्ट्स अधिकारी श्री रजत सिंह, सभी विभागों के विभाग प्रमुख, सभी सहायक प्राध्यापक, कार्यालय स्टाफ और छात्र-छात्राएं उपस्थित थे। सर्वप्रथम सभी की उपस्थिति में मां सरस्वती के छायाचित्र के समक्ष माल्यार्पण और दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।

कार्यक्रम के प्रारंभ में महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीमती रीनू जैन के द्वारा विद्या दीदी को पौधा देकर और महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. रितेश वर्मा के द्वारा माधुरी दीदी का स्वागत पौधा देकर किया गया। कार्यक्रम के प्रारंभ में अपने उद्बोधन में महाविद्यालय प्राचार्य डॉ रितेश वर्मा ने प्रजापति ब्रह्म कुमारी विश्वविद्यालय की विद्या दीदी और माधुरी दीदी का स्वागत अभिनंदन करते हुए बताया कि आप दोनों निरंतर अपना संपूर्ण जीवन ईश्वरीय सेवा में लगाए हुए हैं और महाविद्यालय को आप लोगों का सानिध्य मिलता रहा है। बच्चों हम सभी अपने शरीर और मन को स्वस्थ रखने की कोशिश कर रहे हैं यदि हम ज्ञान के साथ ध्यान को भी जोड़ दें तो लक्ष्य बेहद आसान हो जाएगा। आगे उन्होंने बताया कि फिट इंडिया का कार्यक्रम जो भारतीय खेल प्राधिकरण के तहत पूरे सरगुजा संभाग से हमारे महाविद्यालय में हो रहा है। यहां के बच्चे कई तरह के विधाओं में भाग ले रहे हैं जिसमें आज हम मानसिक स्वास्थ्य के बारे में बात कर रहे हैं तथा फिट रहने के लिए जागरूकता अभियान चला रहे हैं आज के इस पहले सत्र में मानसिक स्वास्थ्य को फिट रखने के लिए प्रयास करेंगे। आजकल के बच्चे पढ़ाई से ज्यादा मोबाइल पर ज्यादा समय व्यतीत कर रहे हैं मुझे ऐसा लगता है की धमनियों में खून की जगह मोबाइल बह रहा है। हम तन और मन से कैसे फिट रहेंगे इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर यह कार्यक्रम कराया जा रहा है। जब तक आप अपने आप को संतुलित नहीं बनाएंगे तब तक सकारात्मक ऊर्जा का संचार नहीं होगा। यदि हम स्वस्थ होंगे तभी देश स्वस्थ होगा।

इसे भी पढ़ें:  VIBRANT GUJARAT GLOBAL SUMMIT: आज से तीन दिन के गुजरात दौरे पर पीएम मोदी .......... वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट का करेंगे उद्घाटन

अगली कड़ी में ब्रह्माकुमारी विद्या दीदी ने छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा की वर्तमान समय में मनुष्य केवल अपने शारीरिक स्वास्थ्य पर ध्यान दे रहा है मानसिक स्वास्थ्य पर नहीं। हम पूर्ण रूप से स्वस्थ तभी कहलाएंगे जब शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और आध्यात्मिक रूप से स्वस्थ होंगे। उन्होंने विस्तार से बताते हुए कहा कि 85% बीमारी का मूल कारण तनाव है,बीमारी तन से ज्यादा मन का होता है। यदि हम मन को तनाव मुक्त कर सकें और सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़े तो हम पूर्ण रूप से स्वस्थ बन सकते हैं। आगे उन्होंने विभिन्न व्यक्तियों के उदाहरण के माध्यम से मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की बात कही। मनुष्य के अंदर बहुत बड़ी शक्ति छिपा रहता है लेकिन उसकी यह विशेषता है कि वह केवल बाहरी दुनिया को देखता है हम योग और ध्यान के द्वारा अंदर की शक्ति को पहचान कर अपना और संसार का भला कर सकते हैं। कभी-कभी अचानक विपरीत परिस्थितियों में अंदर की शक्ति जागृत हो जाती है और असंभव लगने वाला कार्य भी संभव हो जाता है। हम सभी अपने मन पर विजय प्राप्त करके ही जीवन को सफल बना सकते हैं। अगली कड़ी में प्रजापति ब्रह्माकुमारी माधुरी दीदी ने छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा की आज के इस भाग दौड़ भरे जीवन में शारीरिक,मानसिक, आध्यात्मिक और सामाजिक रूप से अपने आप को स्वस्थ बनाए रखना बहुत जरूरी है। उन्होंने अभ्यास के द्वारा सभी को मेडिटेशन की क्रिया को सिखाया। उन्होंने विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और आध्यामिक रूप से कैसे स्वयं को और समाज को स्वस्थ बनाए रखें इस पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने ध्यान और योग के माध्यम से अपने अंदर के आत्मा को चार्ज करने का तरीका भी बताया। यदि हमें भी रोल मॉडल बनना है तो मेडिटेशन करना होगा परमात्मा से जुड़ना होगा क्योंकि परमात्मा सभी शक्तियों का सूर्य कहलाता है जो अपनी ऊर्जा से आपके कदमों में सफलता रखता है। आगे उन्होंने छात्र-छात्राओं से अपील की कि आप सभी नियमित रूप से अपने दैनिक दिनचर्या में ध्यान और योग को लाकर अपना और समाज का कल्याण करें।

इसे भी पढ़ें:  RAM MANDIR PRAN PRATISHTHA: मंदिर में क्यों की जाती है मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा .......... क्या है इसका धार्मिक महत्व ?

महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीमती रीनू जैन के द्वारा मुख्य अतिथि विद्या दीदी को स्मृति चिन्ह देकर और माधुरी दीदी को प्राचार्य डॉ रितेश वर्मा के द्वारा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। अगली कड़ी में महाविद्यालय में महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीमती रीनू जैन ने ने मुख्य अतिथि प्रजापति ब्रह्म कुमारी विश्वविद्यालय की संचालिका विद्या दीदी और माधुरी दीदी का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि आप दोनो ने हमारे बच्चों को शारीरिक, मानसिक, आध्यात्मिक और सामाजिक रूप से ध्यान और योग के गुण सीखाकर उन्हें रिचार्ज कर दिया। बच्चों योग और ध्यान हमें पूर्ण रूप से तरो ताजा कर देता है जिससे हम अपने लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर लेते हैं। आप दोनों की गरिमामय उपस्थित से बच्चों में एक अलग तरह का आत्मविश्वास का संचार हुआ। मैं पुनः सभी को धन्यवाद देती हूं। इस कार्यक्रम का सफल संचालन महाविद्यालय के हिंदी विभाग के सहायक प्राध्यापक और राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी श्री विनितेश गुप्त ने किया।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!