CHHATTISGARH: नई शिक्षा नीति राज्य में जल्द होगा लागू………….स्कूली और उच्च शिक्षा को राष्ट्रीय स्तर पर मिलेगी पहचान

शिक्षा किसी भी राज्य के विकास का महत्वपूर्ण आधार होती है। हमारी कोशिश होगी कि छत्तीसगढ़ के बच्चों को अच्छी शिक्षा देकर चाहे वह स्कूली हो या फिर उच्च शिक्षा, उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर लाने की कोशिश होगी। यह बातें छत्तीसगढ़ शासन के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने शुक्रवार देर शाम विभाग बंटवारे के बाद पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही।

विभाग मिलने के बाद बृजमोहन अग्रवाल ने मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय का आभार जताते हुए कहा, सभी मंत्रियों को उनकी योग्यता के हिसाब से विभाग दिए गए हैं। निश्चित रूप से भाजपा सरकार अच्छा प्रदर्शन करेगी और छत्तीसगढ़ को विकसित छत्तीसगढ़ बनाने की दिशा में काम करेगी।

उन्होंने कहा, छत्तीसगढ़ में करीब 8 लाख सरकारी कर्मचारी हैं। उनमें से लगभग चार लाख कर्मचारी अकेले स्कूल शिक्षा और उच्च शिक्षा में काम कर रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री ने मुझे एक बड़ी जिम्मेदारी दी है। उन्होंने मोदी की नई शिक्षा नीति को राज्य में लागू करने की जिम्मेदारी दी है। हमारी कोशिश होगी कि छत्तीसगढ़ की शिक्षा को राष्ट्रीय स्तर पर स्थान दिलाया जाए, ऐसी शिक्षा जिससे छत्तीसगढ़ के बच्चों का बेहतर भविष्य का निर्माण हो सके।

बृजमोहन अग्रवाल को उच्च शिक्षा स्कूली शिक्षा के साथ ही पर्यटन, धर्मस्थ और संस्कृति विभाग की भी जिम्मेदारी गई है। इस पर बृजमोहन ने कहा, पर्यटन धर्मस्थ और संस्कृति के माध्यम से छत्तीसगढ़ की पहचान पूरे देश और दुनिया में बनाने की कोशिश की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा है कि राजिम कुंभ को पहले से ज्यादा बेहतर और भव्य रूप में फिर से शुरू किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें:  CHHATTISGARH: छत्तीसगढ़ संस्कृत विद्यामण्डलम ने जारी की समय सारणी.............जानिये कब से होगी परीक्षा

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!