AMBIKAPUR: पीएम जनमन योजना के जिले में सफलतापूर्वक क्रियान्वयन के लिए एनजीओ, युवाओं, एसएचजी दीदियों को बनाया गया वॉलंटियर, पीवीटीजी समुदाय के बीच जाकर योजनाओं का लाभ लेने करेंगे प्रेरित

वालंटियर्स को प्रशिक्षण प्रदान करने उन्मुखीकरण सह कार्यशाला का हुआ आयोजन

मानव सेवा ही सबसे बड़ी सेवा, पीवीटीजी बसाहटों में जाकर शासकीय योजनाओं का लाभ लेने जागरूक करें-कलेक्टर श्री भोस्कर

कलेक्टर श्री विलास भोस्कर के मार्गदर्शन में पीएम जनमन  द्वारा जिले के पीवीटीजी समुदाय के लोगों को शासन की विभिन्न योजनाओं से शत प्रतिशत लाभान्वित किए जाने हेतु लगातार प्रयास जारी है। जिले में योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन के लिए विकासखण्डवार बसाहट स्तर पर सामाजिक संगठनों, युवाओं, पीआरपी सदस्यों, एनआरएलएम की दीदियों को वालंटियर्स बनाया गया है जो प्रशासन और पीवीटीजी समुदाय के बीच कड़ी बनेंगे।

वॉलेंट्रीयर्स को इसके लिए विभिन्न प्रकार के गतिविधियों से प्रशिक्षित किए जाने हेतु गुरुवार को कलेक्टर श्री भोस्कर की अध्यक्षता में उन्मुखीकरण सह कार्यशाला का अयोजन जिला पंचायत सभाकक्ष में किया गया।

इस मौके पर कलेक्टर श्री भोस्कर ने कहा कि पीवीटीजी समुदाय के योजनाओं के लाभ से अब तक वंचित लोगों को शासन की विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं का लाभ प्रदान करने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पीएम जनमन योजना की शुरुआत की है। ये हम सब की जिम्मेदारी है कि मानवता के दृष्टिकोण से पीवीटीजी बसाहटों में जाकर उन्हे जागरूक करें। उन्होंने कहा कि मानव सेवा ही सबसे बड़ी सेवा है। समाज का हर वर्ग उन्नति करे, ये हमारा प्रयास है, उन्होंने कहा कि सभी वालंटियर्स फील्ड में जाकर प्रशासन और हितग्राहियों के बीच की कड़ी बनें और उनकी जरूरतों को जानने का प्रयास करें, ताकि उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ा जा सके।

कार्यशाला में मास्टर ट्रेनरों द्वारा वालंटियर्स को विभिन्न गतिविधियों का प्रशिक्षण दिया, जिसके माध्यम से पीवीटीजी बसाहटों में लोगों को आवश्यक जानकारी प्रदान की जाए एवं उनके जीवन में सकारात्मक बदलाव आए। इस दौरान लखनपुर की एस्पिरेशन ब्लॉक फेलो सुश्री सुभीता शुक्ला ने सुपोषण एवं योग के विषय में बताया कि शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है, जो सन्तुलित आहार सेवन के द्वारा पूर्ण किया जा सकता है। उन्होंने सन्तुलित आहार के सम्बंध में विस्तृत जानकारी दी, वहीं उन्होंने बताया कि पीवीटीजी बसाहटों में स्वस्थ शरीर एवं मस्तिष्क के लिए लोगों को योग का भी प्रशिक्षण दें। इसी प्रकार कार्यशाला में सियती सोशल वेल फेयर सोसायटी की सुश्री सुनिधि शुक्ला ने बताया कि नशामुक्ति हेतु जागरूकता के सम्बंध में प्रशिक्षण दिया। एमएसवीपी हेड श्रीमती मीरा शुक्ला ने स्वास्थ्य एवं स्वच्छता पर अपने विचार रखे तथा पीवीटीजी वर्ग में स्वच्छता के प्रति जागरूक करने के तरीके के विषय में बताया।

इसे भी पढ़ें:  PANCHANG: 16 फरवरी 2024 का पंचांग- आज है नर्मदा जयंती........ पंचांग पढ़कर करें दिन की शुरुआत

कार्यशाला में श्री यू.एस.मिश्रा ने शिक्षा एवं साक्षरता के सम्बंध में बताया कि पीवीटीजी समुदाय के लोगों को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए शिक्षा महत्वपूर्ण माध्यम है, इनका विकास करने हेतु उन्हें शिक्षा हेतु प्रेरित करें। इसी प्रकार मानवाधिकार के सम्बंध में श्रीमती शिल्पा ने बताया। पंचायत के उप संचालक ने कार्यशाला में उपस्थित वॉलंटियर्स को पेसा एक्ट के विषय में विस्तृत जानकारी दी।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!