AMBIKAPUR: पीएम जनमन योजना – 148 करोड़ की लागत से 189.43 किमी सड़कों का होगा निर्माण……. पहाड़ी कोरवा बसाहटें सीधे जुड़ेंगी मुख्य सड़कों से, पीवीटीजी समुदायों तक आसानी से पहुंचेंगी सुलभ आवागमन की सुविधाएं

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के माध्यम से प्रथम चरण में जिले में 51 सड़कों से 54 पीवीटीजी बसाहटों को जोड़ने की मिली स्वीकृति

प्रधानमंत्री जनमन योजना के तहत पहुंचविहीन पीवीटीजी बसाहटों को पक्की सड़कों के जरिए मुख्य रास्तों से जोड़ा जाना है। इन पक्की सड़कों से आवागमन सुलभ होने के साथ स्वास्थ्य सुविधाओं, शिक्षा, दैनिक कामकाज के लिए गांव से शहर आने जाने की सुविधा लोगों को मिलेगी।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में विशेष रूप से कमजोर जनजाति समूहों (पीवीटीजी) की सामाजिक तथा आर्थिक स्थिति में उत्तरोत्तर सुधार करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री जनजाति आदिवासी न्याय योजना की शुरूआत की गई है। जिसमें विभिन्न योजनाओं का लाभ पीवीटीजी समुदायों को प्रदान किया जा रहा है। इसी कड़ी में  योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के माध्यम से पक्की सड़कों का निर्माण कर विशेष रूप से कमजोर जनजाति समूहों वाले बसाहटों के 100 या अधिक की आबादी वाली प्रत्येक बसाहट के लिए सड़क कनेक्टिविटी के माध्यम से सड़क बुनियादी ढांचे को मजबूत किया जाएगा।

योजनान्तर्गत प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के माध्यम से प्रथम चरण में जिला सरगुजा में 189.43 किमी की 51 सड़कों की स्वीकृति प्राप्त हुई है। बनने वाली सड़कों की कुल प्रस्तावित राशि 148 करोड़ 20 लाख रुपए है। प्रधानमंत्री जनजाति आदिवासी न्याय महा अभियान (पीएम जनमन) के द्वारा ये सड़कें जिले के विशेष पिछड़ी जनजाति पहाड़ी कोरवा की 54 बसाहटों से जुड़ेंगी। जिसकी स्वीकृति छत्तीसगढ़ ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत प्रदान की गई है। जिसमें विधानसभा क्षेत्र अम्बिकापुर की कुल 06 बसाहटें, विधानसभा क्षेत्र लुण्ड्रा की 18 बसाहटें, विधानसभा क्षेत्र सीतापुर की 27 बसाहटें शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें:  AMBIKAPUR: जनमन योजना के बेहतर क्रियान्वयन, धान खरीदी, रेडी टू ईट और मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता, छात्र-छात्राओं की पढ़ाई और सुरक्षा पर कलेक्टर के विशेष निर्देश

मुख्य रूप से ये सड़कें शामिल –

इसमें मुख्य रूप से उदयपुर विकासखंड में बकोई से भेलवाडांड 10.15 किमी, टी 01 भकुरमा रोड से बुले केदमा 9.82 किमी, अंबिकापुर में राम नगर से लुकुम घुटरा 4.92 किमी, मोहनपुर से कोरवा पारा 2.81 किमी, पंपापुर से हर्राघाट 3.42 किमी, लुण्ड्रा विकासखंड में डकई से डकई बेवरा 4.33 किमी, जरकेला से चेउरपानी 4.02 किमी, चित्तपुर से चेउरपानी 3.60 किमी, अजिरमाकला से मांझा बेवरा 3.50 किमी सड़क निर्माण किया जाना है। इसी तरह सीतापुर विकासखंड में रजपुरी से बिजली चट्टान 5.90 किमी, बंशीपुर से अमगोड़हा 3.83 किमी, बतौली में टीरंग से इमलीटीकरा 7.00 किमी, घोघरा से परसाढाब 6.80 किमी, बांसाझाल से कदमहुआ 6.60 किमी, नकना से पहाड़पारा 6.30 किमी, बांसाझाल से आमपानी 5.50 किमी, तिरंग से खूंटापानी 5.30 किमी और सरमना से कोईलारढोंढी 4.00 किमी, विकासखंड लखनपुर में बेलदगी से मुड़ापारा 1.22 किमी तथा विकासखंड मैनपाट में कतकालो से लोटापानी 8.13 किमी, सुपलगा से हसियाखार 4.23 किमी, कदनई से सेमिडीह 4.20 किमी, पेंट से डाहुझरिया 3.00 किमी, कोट से गटीकोना 4.00 किमी सहित पूरे जिले में विभिन्न जगहों पर सड़क निर्माण किया जायेगा, इसके लिए विभाग द्वारा आवश्यक सर्वे भी कर लिया गया है।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!