AMBIKAPUR: प्रौढ़ शिक्षा कार्यक्रम अब जाना जाएगा सबके लिए शिक्षा नाम से…….. कार्यक्रम की समय सीमा 2027 तक निर्धारित

उल्लास-नवभारत साक्षरता कार्यक्रम में 15 वर्ष या इससे अधिक आयु समूह के असाक्षरों को ऑनलाइनदृऑफलाइन मोड पर सर्वे एवं सीखनेदृसिखाने का कार्य किया जाना है। जिला साक्षरता मिशन प्राधिकरण से प्राप्त जानकारी अनुसार प्रौढ़ शिक्षा अब (सबके लिए शिक्षा) नाम से संचालित किया जाएगा। इस कार्यक्रम की समय सीमा 2027 तक निर्धारित की गई है। योजना का उद्देश्य असाक्षरों को बुनियादी साक्षरता एवं संख्या ज्ञान, जीवन कौशल, वित्तिय साक्षरता, डिजिटल साक्षरता, चुनावी साक्षरता, कानूनी साक्षरता, आपदा प्रबंधन, व्यावसायिक कौशल, स्वास्थ्य जागरूकता, बुनियादी शिक्षा, कौशल विकास एवं सतत शिक्षा पर जागरूक करना है।

इस हेतु विशेष रणनीति बनाकर कार्य किए जाने की आवश्यकता है। जिसके तहत शिक्षार्थियों एवं स्वयंसेवी शिक्षकों के सर्वेक्षण के संचालन के लिए विद्यालय इकाई होंगे। टीचिंग लर्निंग और सेल्फ असेसमेंट ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड में होंगे। महत्वपूर्ण जीवन कौशल के माध्यम से बुनियादी साक्षरता और अंक ज्ञान प्रदाय किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें:  CHHATTISGARH: सीजी पीएससी ने जारी की सहायक संचालक कृषि की चयन सूची

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!