AMBIKAPUR: के. आर. टेक्निकल कॉलेज अंबिकापुर में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस………. महिलाओं ने साझा किया अपने जिंदगी के खट्टे-मीठे अनुभव

के. आर. टेक्निकल कॉलेज अंबिकापुर में आईक्यूएसी और महिला सशक्तिकरण सेल के संयुक्त तत्वाधान में बड़े ही उत्साह के साथ अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया।

इस कार्यक्रम में आमंत्रित वक्ता शासकीय कालिदास महाविद्यालय प्रतापपुर की रसायन शास्त्र की सहायक प्राध्यापक सुश्री अनीता कुजूर और महाविद्यालय की समाजकार्य विभाग की सहायक प्राध्यापक सुश्री एलिस एंजेल तिर्की थी।

कार्यक्रम में महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीमती रीनू जैन, प्राचार्य डॉ. रितेश वर्मा,आइक्यूएसी समन्वयक सुश्री प्रज्ञा सिंह राजपूत, सभी विभागों के विभाग प्रमुख, सहायक प्राध्यापक और छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

कार्यक्रम के प्रारंभ में प्राचार्य डॉ. रितेश वर्मा ने सबको संबोधित करते हुए कहा कि जब महिलाएं सक्षम होंगी तब ही देश और समाज आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि कुछ महिलाएं तो प्रगति पथ पर निरंतर आगे बढ़ रही हैं लेकिन बहुत सी महिलाएं अभी इस हिंसा और शोषण का शिकार हो रही है। हमें उनके लिए भी आगे आना होगा l

उन्होंने कहा कि महिलाओं को चाहिए कि वह अपने अधिकारों का सही-सही उपयोग कर समाज उत्थान और नारी उत्थान में सहयोग प्रदान करें। अगली कड़ी में आमंत्रित मुख्य वक्ता सुश्री अनीता कुजूर ने कहा कि आज के समय में पढ़ने लिखने के बाद नौकरी प्राप्त करना बहुत कठिन है। उच्च शिक्षा में जाने के लिए आपको नेट, सेट के अलावा पीएचडी डिग्री की आवश्यकता पड़ती है जो पीजी अंतिम वर्ष में हैं और जो कर लिए हैं उनके पास नेट, सेट परीक्षा पास कर जेआरएफ कर पीएचडी करने और लेक्चर बनने का सुनहरा अवसर है। इसके लिए आपको कठिन परिश्रम और एकाग्रता की आवश्यकता पड़ेगी तब जाकर आपको मनवांछित फल की प्राप्ति होगी। एक दो बार असफलता का स्वाद भी चखना पड़ सकता है लेकिन बार-बार प्रयास करेंगे तो निश्चित रूप से आपको अच्छी सफलता प्राप्त होगी और उसका लाभ आपके जीवन भर मिलेगा।

इस अवसर पर महाविद्यालय की समाज कार्य की सहायक अध्यापक सुश्री एलिस एंजेल तिर्की, वनस्पति विभाग की सहायक प्राध्यापक सुश्री रेनू सिंह, रसायन शास्त्र की सहायक प्राध्यापक सुश्री एल्सीजोश तिग्गा और वाणिज्य संकाय की सहायक प्राध्यापक सुश्री ललिता ने अपने जिंदगी का अनुभव शेयर करते हुए छात्र-छात्राओ को प्रेरित किया।

कार्यक्रम के अंत में महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीमती रीनू जैन ने सभी को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी और कहा की जीवन में कभी भी परिस्थितियों से हार नहीं माननी चाहिए, निरंतर संघर्ष करते रहना चाहिए और अपने लक्ष्य को प्राप्त करना चाहिए। आपका सुंदरता से ज्यादा व्यक्तित्व महत्व रखता है। आपके व्यक्तित्व से आपकी सुंदरता और ज्यादा निखर कर दिखने लगेगी। आप सभी को अंदर से मजबूत बनकर अपने हुनर को तराश कर आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा की चुनौतियों को स्वीकार कर रास्ता निकालना की कला सीखिए। सबसे अच्छा व्यवहार रखें, मीठा बोले और अपना काम को ईमानदारी के साथ करें। आज के समय में लड़कियों को ज्यादा जागरूक और सतर्क रहने की आवश्यकता है। इस कार्यक्रम का सफल संचालन महाविद्यालय के अंग्रेजी विभाग की सहायक प्राध्यापक सुश्री प्रज्ञा सिंह राजपूत ने किया।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!