AMBIKAPUR: मैनपाट महोत्सव के दूसरे दिन मशहूर भोजपुरी गायक खेसारी लाल और छत्तीसगढ़ की बिटिया आरु साहू के गीतों पर थिरका सरगुजा

  • गजल गायक कुमार सत्यम के गीतों ने बांधा समां
  • ख्यात कलाकार अमन अक्षर सहित स्थानीय कलाकारों और स्कूली बच्चों ने भी दी एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियां

मैनपाट महोत्सव के दूसरे दिन लोगों में और अधिक उत्साह देखने को मिला। बड़ी संख्या में लोग महोत्सव का आनंद लेने पहुंचे। मंच पर थिरकते बच्चों और कलाकारों के साथ आम जन ने भी सुर से सुर और कदम से कदम मिलाए। मशहूर भोजपुरी कलाकार खेसारी लाल के भोजपुरी गीतों पर दर्शक जमकर झूमे, खेसारी लाल के स्टेज पर पहुंचते साथ लोगों ने जमकर तालियां बजाकर उनका स्वागत किया। प्रसिद्ध गजल गायक कुमार सत्यम के गजलों तुम्हारी दौलत नई नई है… याद याद याद, बस याद रह जाती है, से समा सुरमई हुआ। छत्तीसगढ़ी गायिका आरु साहू के गीतों ने लोगों को थिरकने पर मजबूर किया।

ख्यात कलाकार अमन अक्षर ने रामभक्ति से भरा काव्य पाठ किया। स्थानीय कलाकारों में आयुष नामदेव, हर्ष पुरी तथा जसमीत कौर के गीतों ने लोगों को आयोजन स्थल में बांधे रखा। वहीं गीत-संगीत के साथ विभिन्न पारम्परिक नृत्यों पर लोग थिरके। कठपुतली नृत्य, सम्बलपुर के दुलदुली डांस ग्रुप द्वारा दुलदुली नृत्य, बुधमन सन्यासी की टीम के द्वारा नगपुरिहा गीत एवं नृत्य मुख्य आकर्षण का केन्द्र रही। स्कूली बच्चों और स्थानीय कलाकारों ने भी एक से बढ़कर एक गीत और नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी।

इसे भी पढ़ें:  AMBIKAPUR: मैनपाट महोत्सव के आखिरी दिन दंगल प्रतियोगिता का हुआ फैसला, छत्तीसगढ़ केशरी बने विजेंद्र, रानी दुर्गावती श्रेणी में जीती दिया....... महोत्सव में उभरते युवा कलाकारों की मनमोहक प्रस्तुतियां दर्शकों को करती रहीं आनन्दित

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!