SURGUJA: जिले में पेट्रोल डीजल आपूर्ति की समस्या नहीं……….प्रशासन की लोगों से अपील……… पैनिक ना करें…………..अफवाहों से बचें

मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अहम बैठक ली जिसमें मुख्य सचिव, डीजीपी, समस्त कमिश्नर, आईजी, कलेक्टर, एसपी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में ट्रक चालकों की देशव्यापी हड़ताल को देखते हुए आवश्यक वस्तुओं की सुचारू आपूर्ति हेतु आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। इसी कड़ी में कलेक्टर श्री कुन्दन कुमार और पुलिस अधीक्षक श्री सुनील शर्मा भी कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी कक्ष से वीडियो कांफ्रेंसिंग में शामिल हुए।

जिले में पेट्रोल डीजल आपूर्ति की समस्या नहीं, प्रशासन की लोगों से अपील पैनिक ना करें, अफवाहों से बचें

कलेक्टर श्री कुन्दन ने जिले के लोगों से अपील की है कि इस स्थिति को नियंत्रण में रखा गया है। आम जन पैनिक ना हों। उन्होंने यह भी अपील की है कि किसी भी तरह की अफवाह से बचें। प्रशासन द्वारा पेट्रोल डीजल सहित आवश्यक वस्तुओं की सुचारू उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है।

सरगुजा जिले में पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर की उपलब्धता की जानकारी

जिला खाद्य अधिकारी ने बताया कि जिले में संचालित कुल पेट्रोल डीजल पंपों की संख्या 67 है। इनमें से 61 पंपों में पेट्रोल और डीजल पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध है। पेट्रोल का स्टॉक 277000 लीटर और डीजल का स्टॉक 475000 लीटर उपलब्ध है।

उन्होंने यह भी बताया कि 41 पंपों में आज दिनांक की स्थिति में आपूर्ति की गई है। जिले में मौजूद पंपों में रिलायंस 01, इंडियन ऑयल 25, भारत पेट्रोलियम 17, और हिंदुस्तान पेट्रोलियम के 24 पंप हैं। जिले उन्होंने जानकारी दी है कि आज की स्थिति में केवल 06 पंप ड्राई है। गैस सिलेंडर का स्टॉक पर्याप्त उपलब्ध है। जिले में 17 गैस एजेंसी है, जहां 16 एजेंसी में 3896 गैस सिलेंडर उपलब्ध है।

इसे भी पढ़ें:  BANK FD RATES: एफडी कराने वाले ग्राहकों को मिला शानदार गिफ्ट ....... SBI समेत इन बैंकों ने अपने ग्राहक को दिया न्यू ईयर गिफ्ट ....... बढ़ाई एफडी पर ब्याज दरें

 मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने दिये निर्देश

आपको बता दें की ट्रकचालकों की देशव्यापी हड़ताल को देखते हुए आम जनता को आवश्यक वस्तुओं की किसी तरह की किल्लत न हो, यह सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने वरिष्ठ अधिकारियों एवं सभी जिलों के कलेक्टर-एसपी को निर्देशित किया है। उन्होंने ट्रकचालकों की हड़ताल के चलते प्रदेश में आम जनता को आवश्यक सामग्री की उपलब्धता के संबंध में जमीनी स्थिति की समीक्षा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता को आवश्यक वस्तुओं की दिक्कत हुई और इस वजह से कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ी तो कलेक्टर-एसपी की जिम्मेदारी तय की जाएगी। मंत्रालय महानदी भवन से हुई इस वीसी में संभागायुक्तों, पुलिस महानिरीक्षकों के साथ जिलों के कलेक्टर तथा एसपी शामिल हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आमलोगों तक इसकी सही जानकारी पहुंचे और भ्रामक खबरें न फैले। अफवाह फैलाने वालों पर कार्यवाही की जाए। अधिकारी पेट्रोल, डीजल, दवाइयां, फल, सब्जी, अनाज की उपलब्धता की जानकारी लें और इसकी सतत आपूर्ति सुनिश्चित करें। पुलिस लगातार पेट्रोलिंग करें और स्थिति पर नजर बनाए रखें। प्रदेश व जिले स्तर पर कंट्रोल रूम बनाया जाए जो 24 घंटे संचालित हो। किसी भी आवश्यक वस्तु की आपूर्ति बाधित होने पर तत्काल कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री श्री साय ने कहा कि प्रशासन सभी स्टाकहोल्डरों से बात करें और देखें कि कहीं जमाखोरी तो नहीं हो रही।
मुख्यमंत्री श्री साय ने परिवहनकर्ताओं द्वारा की जा रही आकस्मिक हड़ताल के मद्देनजर राज्य में पेट्रोल-डीजल एवं एलपीजी सहित अन्य जरूरी वस्तुओं का परिवहन सतत जारी रखने एवं आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है।

इसे भी पढ़ें:  SURGUJA: कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ग्राम खाला के कोरवापारा में प्रशासनिक अमले के साथ पीवीटीजी समुदाय के बीच पहुंचे...............प्रधानमंत्री जनमन योजना से मिलने वाली लाभ की दी जानकारी

साथ ही यह भी कहा कि राज्य में संचालित पेट्रोलियम-डीजल डिपो तथा एलपीजी डिपो में वाहनों के प्रवेश तथा निकासी में राजस्व, पुलिस एवं खाद्य विभाग के अमले की ड्यूटी लगाई जाए ताकि किसी भी प्रकार का व्यवधान ना किया जा सके। उन्होंने निर्देशित किया कि प्रदेश के किसी भी जिले में पेट्रोलियम-डीजल तथा एलपीजी सेवा वाहनों का परिवहन बाधित न हो। उन्होंने सभी टोल नाकों-चौकी में आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए। साथ ही पेट्रोल-डीजल, घरेलू एलपीजी की सुचारू उपलब्धता एवं वितरण व्यवस्था के लिए ऑयल कंपनी के अधिकारियों के साथ जिला स्तरीय निगरानी दल गठित करने के निर्देश भी दिए हैं।

इस मौके पर मुख्य सचिव श्री अमिताभ जैन, पुलिस महानिदेशक श्री अशोक जुनेजा, अपर मुख्य सचिव श्री मनोज कुमार पिंगुआ, मुख्यमंत्री के सचिव श्री पी. दयानंद, खाद्य सचिव श्री टोपेश्वर वर्मा और संचालक खाद्य श्री जितेंद्र शुक्ला सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

क्या आपने इसे पढ़ा:

error: Content is protected !!